Monday, July 22, 2024

कर्नाटक हिजाब विवाद:विदेश मंत्रालय ने कहा- हमारे अंदरूनी मामले में दखलअंदाजी न करें दूसरे देश; ड्रेस कोड पर प्रायोजित कमेंट्स बर्दाश्त नहीं

- Advertisement -

cgtimesnews.com/ कर्नाटक में जारी हिजाब विवाद के बीच विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर इस मामले में अन्य देशों को दखलअंदाजी न करने को कहा है। विदेश मंत्रालय की तरफ से शनिवार को जारी एक ट्वीट में कहा गया कि ड्रेस कोड संबंधित मामले पर कर्नाटक हाईकोर्ट में सुनवाई चल रही है, ऐसे में देश के आंतरिक मामलों पर किसी भी देश की प्रायोजित टिप्पणियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हिजाब विवाद पर पाकिस्तान के मंत्री ने कमेंट किया था।

read more  *पुलिस अधीक्षक कोरबा ने डायल 112 के कर्मचारियों का लिया मीटिंग, रिस्पांस टाइम कम रखने के दिए निर्देश* 

इधर, कर्नाटक में 14 फरवरी से 9वीं और 10वीं तक के स्कूल खोल दिए जाएंगे। हाईकोर्ट के आदेश के बाद मुख्यमंत्री CM बोम्मई और गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने गुरुवार को राज्य और जिले के अधिकारियों के साथ एक हाई लेवल मीटिंग में यह फैसला लिया। अब अधिकारी स्कूल कैंपस को दौरा करेंगे। इस दौरान वे छात्रों के पेरेंट्स से भी मिलेंगे। स्कूल खोलने पर कोई अप्रिय घटना न हो, इसके लिए CM ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।

CM ने अधिकारियों को दिए ये निर्देश

  • डीसी और एसपी राज्य में शांति स्थापित करने और किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए संवेदनशील क्षेत्रों का दौरा करेंगे।
  • अधिकारियों को सोशल मीडिया पर सख्त निगरानी रखने के लिए कहा गया है, ताकि अफवाहों को बढ़ावा देने वाले और उकसाने वाले मैसेज न फैलें।
  • दोषियों पर जल्द कार्रवाई की जानी चाहिए और हाईकोर्ट के आदेश का कानूनी तौर पालन होना चाहिए।
  • सभी राजनीतिक नेताओं, धर्मगुरुओं, संगठनों के प्रमुखों को विश्वास में लिया जाए और जरूरत पड़ने पर उनका सहयोग मांगा जाए।
  • स्थानीय प्रशासन ऊपर से आदेश की प्रतीक्षा न करे। परिस्थिति के अनुसार, किसी अप्रिय घटना को तुरंत रोकने के उपाय तलाशे।

CM ने की शांति बनाए रखने की अपील
मीडिया से बात करते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा, ‘पिछले दो दिन बेहद शांतिपूर्ण रहे हैं। मैं सभी से एक साथ काम करने और कॉलेजों में शांति बनाए रखने की अपील करता हूं। सोमवार से 10वीं तक की कक्षाओं के लिए स्कूल खुलेंगे। दूसरे चरण में, हम स्थिति के अनुसार, कक्षा 11वीं-12वीं और अन्य डिग्री कॉलेजों को फिर से खोलने के बारे में निर्णय लेंगे।’

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -