Monday, July 22, 2024

खैरागढ़ उपचुनाव: अपने-अपने ‘किसान’:BJP बोली- UP में मौत पर मुआवजा, पर यहां भ्रष्टाचार; कांग्रेस ने कहा- सरकारी योजनाएं किसानों के हित में

- Advertisement -

खैरागढ़ सीट पर विधानसभा उपचुनाव की घोषणा के बाद से ही राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। प्रदेश की दोनों बड़ी पार्टियां BJP और कांग्रेस अपनी-अपनी जीत के दावे कर रही हैं। खास बात यह है कि दोनों के ही मुद्दे ‘किसान’ हैं। किसान बहुल खैरागढ़ में जहां BJP उनकी मौत और मुआवजे का लेकर मैदान में उतरने की तैयारी में है, वहीं कांग्रेस का फोकस सरकारी योजनाओं पर है।

दरअसल, JCCJ विधायक देवव्रत के निधन के चलते खाली हुई खैरागढ़ सीट पर अब BJP और कांग्रेस दोनों ही कब्जा जमाने के प्रयास में जुट गई हैं। उपचुनाव की घोषणा हो चुकी है। 12 अप्रैल को मतदान और 16 अप्रैल को नतीजे आएंगे। हालांकि अभी तक दोनों दलों से उम्मीदवारों के नाम तक तय नहीं हुए हैं, लेकिन जीत की जद्दोजहद में राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है। दोनों ही अपनी-अपनी जीत का दावा कर रहे हैं।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -