Saturday, July 20, 2024

चार बार बिकी और दर्जनों लोगों ने लूटी अस्मत, पीड़िता ने सुनाई दर्द भरी कहानी

- Advertisement -

cgtimesnews.com/ उदयपुर, दिल्ली में जीबी रोड स्थित रेड लाइट एरिया के समीप की बस्ती में रहने वाली एक युवती को पड़ोस में रहने वाला उसका मुंह बोला भाई अच्छा काम दिलाने के बहाने राजस्थान लाया और उसका सौदा कर दिया। यह घटना सत्रह महीने पहले की है। खरीदार उसके साथ दुष्कर्म करता रहा और मन भरने के बाद उसका सौदा आगे कर दिया। अगला खरीदार भी उसके साथ इसी तरह का बर्ताव करता रहा और आगे बेचता गया। सत्रह महीनों में वह चार बार बिकी और दर्जनों लोगों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। पिछले दिनों उदयपुर पुलिस युवती के स्थानीय खरीदारों को पकड़ने में सफल रही और उसे मुक्त कराया। फिलहाल, युवती यहां सेवा मंदिर के स्वाधार केंद्र में रह रही है, लेकिन वह अपनी उसी मौसी के पास दिल्ली जाना चाहती है, जिसके पास वह पहले रहा करती थी।

read moreलखीमपुर हिंसा के आरोपी और गृह राज्य मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा को जमानत मिली, 5 महीने से जेल में बंद था

युवती ने बताया कि वह मूलत: बिहार के छपरा इलाके की रहने वाली है। बचपन में माता-पिता की मौत के बाद वह अकेली रह गई थी तो दिल्ली में रहने वाली उसकी मौसी उसे अपने साथ ले गई। छठी तक पढ़े होने के बावजूद वह अच्छी तरह से लिख-पढ़ नहीं पाती। जिसके चलते मौसी ने उसे लोगों के घर चौका-बर्तन के काम पर लगा दिया था। इसी दौरान उसकी मुलाकात पड़ोस में रहने वाले संजय नामक युवक से हुई, जो उसे बहन मानता था। उसने उसे दिल्ली में काम दिलाया था, जिससे उस पर विश्वास हो गया था। अच्छा काम दिलाने के बहाने वह उसे राजस्थान लाया और उसका सौदा करके चला गया। जिसने उसे खरीदा, वह रोजाना उसके साथ दुष्कर्म करता था। जब मन भर गया तो उसे आगे बेच दिया गया। इस तरह सत्रह महीने में वह चार बार बिकी और दर्जनों लोगों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। उदयपुर में उसे चार दिन पहले लाया गया था। उसे निर्जन क्षेत्र के एक मकान में रखा जा रहा था और वहां चार युवक उसके साथ प्रतिदिन दुष्कर्म करते थे। जंगल में शौच के लिए जाते समय उसे युवक मिला और उससे सहायता मांगी तो उसने पुलिस को उसके बारे में बताया था। जिसके बाद पुलिस आई और उसे उन लोगों से मुक्ति मिली। पुलिस चारों युवकों को दबोचने में सफल रही। जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और उसे उदयपुर में सेवामंदिर के स्वाधार केंद्र के हवाले कर दिया।

read more मलाला-मरियम का दोहरा रवैया:भारत के हिजाब विवाद में मुस्लिम लड़कियों का सपोर्ट, लेकिन सिंध की राजपूत लड़कियों के रेप पर खामोशी

पीड़ित युवती ने बताया कि उसे पहली बार उसके मुंहबोले भाई ने बेचा था, लेकिन बाद में उसे जिन्होंने खरीदा वह पूरा गिरोह है, जो लड़कियों की खरीद-बिक्री का काम करता है। दिल्ली से गरीब व असहाय परिवारों की लड़कियों को काम दिलाने के बहाने दूसरे राज्यों में ले जाकर बेच दिया जाता रहा है। उसे जिन लोगों ने खरीदा था, वह पहले भी कई लड़कियों को खरीद व बेच चुके थे। उसे पता है कि उदयपुर में वह जिस गिरोह के चंगुल में थी, वह दो अन्य लड़कियों के बारे में भी बात करते थे। हालांकि वह उनसे मिली नहीं। उसने बताया कि भरतपुर, चित्तौड़गढ़ के अलावा उसे उदयपुर में रखा गया, लेकिन वह एरिया विशेष के बारे में जानकारी नहीं रखती। इतना उसे पता है कि गिरोह के लोग लड़कियों को राजस्थान के अलावा मध्य प्रदेश तथा गुजरात में भी बेचते थे। खरीदी गई लड़कियों को वह शहर से दूर ऐसे इलाकों में रखते, जहां आबादी नहीं होती। जिसके चलते वह यह नहीं पहचान पाते कि उन्हें कहां और किस एरिया में रखा जा रहा है।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -