Wednesday, July 24, 2024

छत्तीसगढ़ में खाद संकट, निशाने पर केंद्र:CM बघेल बोले- केंद्र सरकार की नीयत ही नहीं, किसान ज्यादा उत्पादन करें, इसलिए नहीं दे रहे खाद

- Advertisement -

छत्तीसगढ़ में अभूतपूर्व खाद संकट के बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, भारत सरकार की नीयत ही नहीं है कि किसान ज्यादा उत्पादन करें। उत्पादन घटाना है तो खाद ही कम पहुंचे। इससे निश्चित रूप से उत्पादन प्रभावित होगा।

रायपुर हवाई अड्‌डे पर प्रेस के सवाल पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, “खाद तो भारत सरकार ही उपलब्ध कराएगी। राज्य सरकार केवल अपना कोटा भेज सकती है। कोटा भी मिल नहीं रहा है। जो सहमति बनी थी उससे भी कम हम लोगों को अलॉट हुआ। ऐसे में खाद का संकट खड़ा ही होगा।’ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, “भारत सरकार की नीयत ही नहीं है कि किसान ज्यादा उत्पादन करें। उत्पादन घटाना है तो खाद ही कम पहुंचे। इससे निश्चित रूप से उत्पादन प्रभावित होगा।’

राज्य सरकार का कहना है, रबी सीजन के लिए केन्द्र सरकार द्वारा स्वीकृत कोटे के अनुरूप रासायनिक खाद की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। रबी सीजन के लिए राज्य को जनवरी महीने तक कुल 2 लाख 32 हजार मीट्रिक टन रासायनिक खाद की मांग थी। लेकिन केंद्र सरकार ने महज एक लाख 71 हजार 476 मीट्रिक टन खाद ही मिल पाई है, जो कि मात्र 74% है। फरवरी माह में एक लाख 20 हजार 175 मीट्रिक टन खाद की सप्लाई का प्लान मिला है। 16 फरवरी तक राज्य को मात्र 40 हजार 686 मीट्रिक टन खाद ही मिल पाई है। यह कुल मांग का महज 34% है।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -