Tuesday, July 23, 2024

जब भूखे पेट लता दीदी ने गाए 26 गाने:बिना आराम अकाल पीड़ितों के लिए किया था मुफ्त शो; CM ने भी टिकट लेकर सुना गाना

- Advertisement -

cgtimesnews.com/ भारत रत्न लता मंगेशकर का आज 92 साल की उम्र में निधन हो गया। उनकी यादें राजस्थान और जयपुर से भी जुड़ी हुई हैं। यहां की संस्कृति और भाषा से उन्हें बहुत लगाव था। स्वर कोकिला लता जी के प्यार का अंदाजा इससे लग सकता है कि यहां के अकाल पीड़ितों की मदद के लिए उन्होंने जयपुर के एसएमएस स्टेडियम में मुफ्त शो किया था। उन्होंने शो की फीस लेने के बजाय उल्टे अपनी तरफ से अकाल पीड़ितों के लिए पैसे भी दिए थे। इस शो में लता मंगेशकर ने भूखे पेट 26 गाने गाए थे। उपवास पर होने के कारण उन्होंने तब पूरे दिन कुछ भी नहीं खाया था।

read more बच्चे की दर्दनाक मौत, गिरा निर्माणाधीन दीवार

26 नवंबर 1987 को हुए इस शो को देखने के लिए तत्कालीन मुख्यमंत्री हरिदेव जोशी भी टिकट खरीदकर पहुंचे थे। शो से 1 करोड़ 1 लाख रुपए की कमाई हुई, जिसका चेक CM को अकाल पीड़ितों के लिए भेंट किया गया था।

चार दिन रहीं थीं राजस्थान के दौरे पर
राजस्थान में 1987 के दौरान लगातार अकाल पड़ रहा था। अकाल पीड़ितों की मदद के लिए सुर संगम संस्था ने जयपुर के एसएमएस स्टेडियम में शो रखा। संस्था के आग्रह पर लता मंगेशकर ने बिना फीस लिए प्रोग्राम करना स्वीकार कर लिया। उस प्रोग्राम में सभी कलाकारों ने मुफ्त परफॉर्म किया था। उस समय लता जी चार दिन तक राजस्थान दौरे पर रहीं और ज्यादातर समय जयपुर में बिताया था। वे अजमेर भी गई थीं। लता मंगेशकर अकाल पीड़ितों के लिए शो करने 24 नवंबर 1987 को जयपुर पहुंचीं थीं और 26 नवंबर 1987 को शो किया था।

read more कोरबा- कोविड वेक्सीनेशन महाभियान: एक दिन में 48 हजार से अधिक लोगों को लगी कोविड वैक्सीन,वैक्सीनेशन सेंटरों में युवा, महिला, किसान, बुजुर्ग उत्साहित होकर पहुंचे वैक्सीन लगवाने,

सुर संगम संस्था के अध्यक्ष रहे केसी मालू ने भास्कर को बताया कि अकाल पीड़ितों की मदद के लिए जयपुर में उनका शो हमेशा यादों में रहेगा। लता जी चार दिन जयपुर में रहीं थी। वे जयपुर के माहौल को देखकर बहुत खुश हुई थीं। वे गुरुवार का उपवास रखती थीं। उपवास के दिन नहीं गाती थीं। एक नियम और था कि वे एक बार में एक गाना ही गाती थीं। फिर रेस्ट के बाद दूसरा गाना गाती थीं। एसएमएस स्टेडियम के शो में उन्होंने पहली बार दोनों नियम तोड़े। उन्होंने उपवास के बावजूद एक साथ 26 गाने गाए।

एसएमएस स्टेडियम में हुए शो में 40 हजार दर्शक टिकट लेकर जुटे थे। केसी मालू ने बताया कि लता मंगेशकर की परफॉर्मेंस के वक्त बिल्कुल पिन ड्रॉप साइलेंस की स्थिति थी। जयपुर के दर्शकों का अनुशासन देखकर लता मंगेशकर ने कहा था कि जयपुर की ऑडियंस वर्ल्ड क्लास है।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -