Saturday, July 20, 2024

जेलेंस्की से फोन पर बात कर सकते हैं PM मोदी; यूक्रेनी प्रेसिडेंट का मैसेज- हो सकता है मुझे आखिरी बार जिंदा देख रहे

- Advertisement -

रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध का आज 12वां दिन है। 24 फरवरी को शुरू हुई इस जंग में अब यूक्रेन के आम लोगों की जान भी जा रही है। इसके चलते इन 12 दिनों में सदी का सबसे बड़ा पलायन भी दिखा। इस बीच, प्रधानमंत्री मोदी आज यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की से फोन पर बात कर सकते हैं। UN में जंग को लेकर हुई वोटिंग के दौरान भारत एबसेंट रहा था।

रूसी हमलों के बीच रविवार को अमेरिकी सांसदों से बात करते हुए यूक्रेन के राष्ट्रपति वोल्दोमिर जेलेंस्की ने कहा कि अगर उन्हें पश्चिमी देशों से मदद नहीं मिली, तो रूस को रोकना बेहद मुश्किल होगा। जेलेंस्की ने बेहद भावुक अंदाज में कहा, ‘मदद नहीं मिली, तो हो सकता है कि आप मुझे आखिरी बार जिंदा देख रहे हों।’ युद्ध की इस त्रासदी को आप इस तस्वीर में देख सकते हैं।

  • जेलेंस्की की अपील पर अमेरिका और NATO ने रविवार को यूक्रेन को 17 हजार एंटी टैंक मिसाइलें और दूसरे हथियारों की खेप भेजी है।
  • रूसी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने यूक्रेन की मदद करने वाले देशों को धमकी दी है कि ऐसा करके वे रूस के साथ जंग को दावत दे रहे हैं।
  • रूसी सेनाओं ने यूक्रेन की राजधानी कीव पर दो तरफ से हमला बोल दिया है। पूर्व की तरफ से रूसी सेनाएं कीव में दाखिल होने के लिए आगे बढ़ रही हैं। वहीं, पश्चिम की तरफ से रूस के सैनिक आम लोगों को निशाना बना रहे हैं।
  • यूक्रेन के राष्ट्रपति वोल्दोमिर जेलेंस्की ने रविवार को कहा कि रूस ने यूक्रेन की डिफेंस इंडस्ट्री से जुड़े संस्थानों पर हमले का ऐलान किया है। इनमें से अधिकतर शहरों के बीच हैं, जहां चारों तरफ आम नागरिक रहते हैं। ऐसे में रूसी हमला सीधे तौर पर नागरिकों का मर्डर है।
  • जेलेंस्की ने रूसी हमले झेल रहे खार्किव, चेर्निहाइव, मारियुपोल, खेरसॉन, होस्टोमेल और वोल्नोवाखा शहरों को सोवियत परंपरा के अनुसार हीरो सिटी की उपाधि दी है। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद सोवियत संघ के 12 शहरों को यह खिताब दिया गया था।
  • रूस और यूक्रेन के बीच पोलैंड में शांति समझौते पर तीसरे दौर की बातचीत हो सकती है।
- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -