Wednesday, July 24, 2024

पेगासस जासूसी के पीड़ितों में से सिर्फ दो लोगों ने फोन सौंपे, सुप्रीम कोर्ट की कमेटी ने एक महीने पहले मांगे थे

Only two of the victims of Pegasus espionage handed over phones, a Supreme Court committee had asked a month ago

- Advertisement -

cgtimesnews.com/ गासस जासूसी कांड की जांच के लिए बनाई सुप्रीम कोर्ट की कमेटी के पास केवल 2 ही लोगों ने अपने फोन जमा किए हैं। सुप्रीम कोर्ट के पैनल ने 2 जनवरी 2022 को इस बाबत एक नोटिस जारी किया था।

ये भी पढ़े पेगासस जासूसी के पीड़ितों में से सिर्फ दो लोगों ने फोन सौंपे, सुप्रीम कोर्ट की कमेटी ने एक महीने पहले मांगे थे

नोटिस में कहा गया था कि जिन भी लोगों को लगता है कि उनके फोन पेगासस के जरिए हैक किए गए हैं, वे अपने फोन को जांच के लिए कमेटी के पास जमा करें। कमेटी ने गुरुवार को एक बार फिर नोटिस जारी कर जनता से 8 फरवरी, 2022 तक अपने फोन पेश करने के लिए कहा है।

ये भी पढ़े राहुल गांधी रायपुर पहुंचे, साइंस कॉलेज में बस्तर के कलाकारों ने गौर मुकुट पहनाया; डेनेक्स की स्टॉल से खरीदी नेहरू जैकेट, CM ने पहनाई

सुप्रीम कोर्ट में एमएल शर्मा नाम के वकील ने 30 जनवरी को न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के आधार पर एक याचिका दायर की थी। इस रिपोर्ट में दावा किया गया था कि मोदी सरकार ने 2017 में एक डिफेंस डील में इजराइली स्पाइवेयर पेगासस खरीदा था।

याचिका में सुप्रीम कोर्ट से मांग की गई थी कि इस डिफेंस डील की जांच की जाए। शर्मा ने कहा कि डील को संसद से मंजूरी नहीं मिली थी और पैसे की वसूली कर इसे रद्द कर देना चाहिए।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -