Sunday, July 21, 2024

प्लाईवुड फैक्ट्री में लगी आग, लाखों का नुकसान:दमकल 5 गाड़ियों ने 3 घंटे की मशक्कत के बाद पाया काबू; शार्ट सर्किट से हादसे की आशंका

- Advertisement -

दुर्ग जिले में एक ही दिन में चार अलग-अलग जगहों पर आग लगने की घटनाएं घटी। देर रात से सुबह तक एफसीआई गोदाम, पालिका अध्यक्ष की कार और दुकान में आग लगने के बाद शाम को प्लाईवुड फैक्ट्री में आग लग गई। यह आग इतनी भीषण थी कि इसे बुझाने के लिए पांच फायर ब्रिगेड वाहनों को बुलाना पड़ा। इस आग से कई लाख का नुकसान हो गया है।

जेवरा-सिरसा चौकी प्रभारी सीताराम ध्रुव ने बताया कि चौकी क्षेत्र में प्लाईवुड की एक फैक्ट्री में आग लग गई। दोपहर में फैक्ट्री से धुंआ निकलता दिखा। वहां काम कर रहे लोगों ने जब तक आग को देखा तक तक आग भड़क चुकी थी। जानकारी होने पर तुरंत फायर ब्रिगेड कंट्रोल रूम को फोन किया गया। मौके पर पहुंची पांच फायर ब्रिगेड की टीमों ने लगभग 3-4 घंटों की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। फैक्ट्री में आग कैसे लगी इसका कारण पता नहीं चल पाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। आग की वजह से लाखों रुपयों का नुकसान होने का अनुमान लगाया जा रहा है।

प्लाईवुड के मटेरियल में तेजी से भड़की आग

यह फैक्ट्री आकाश गोयल की है। उन्होंने बताया कि दोपहर 3 बजे के करीब फैक्ट्री में आग लगने की सूचना मिली थी। उन्होंने तुरंत फायर ब्रिगेड और पुलिस को इसकी सूचना दी। फायर बिग्रेड की एक-एक कर पांच गाड़ियां फैक्ट्री पहुंची। बताया जा रहा है कि शॉर्ट सर्किट की वजह से प्लाईवुड फैक्ट्री में आग लगी है। फैक्ट्री में प्लाईवुड बनाने का सामान पड़ा होने से आग तेजी से भड़की और देखते ही देखते पूरी फैक्ट्री आग की लपटों में घिर गई। आग की लपटें देखकर मजदूर वहां से भागे। करीब तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -