Saturday, July 20, 2024

*बिखरने से बचा परिवार जब एसपी ने जमीन पर बैठ लगाई ग्रामीणों संग चौपाल* 

- Advertisement -

रायपुर । अब तक आपने  पुलिस के डंडे की भाषा के बारे में ही सुना होगा । लेकिन कोरबा पुलिस प्यार की भाषा बोलकर, समझाईश देकर लोगों की समस्याएं सुलझाने का काम कर रही है ।

दरअसल कोरबा एसपी भोजराम पटेल ने सभी थानेदारों को सप्ताह में एक दिन गांव जाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुलझाने का निर्देश दिया है । इसके साथ ही कहा गया है कि ग्रामीणों के बीच विवाद को समझाईश और आपसी समन्वय से सुलझाए जाएं और हो सके तो छत्तीसगढ़ी में ही बात करें ।

 

रविवार को चौपाल कार्यक्रम के पहले दिन एसपी भोजराम खुद ग्रामीणों के बीच करुमौहा गांव पहुँचे । गांव पहुँचकर एसपी ने ग्रामीणों के साथ जमीन पर बैठकर छत्तीसगढ़ी में बात की । उल्लेखनीय है कि भोजराम खुद छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के एक छोटे से गांव से आते हैं ।

 

चौपाल में एक महिला ने एसपी को बताया कि उसके पति ने नशे में मारपीट कर घर से निकाल दिया है । एसपी ने तत्काल पति को बुलवाया । उन्होंने उसे घरेलू हिंसा अधिनियम बता कर सचेत किया । एसपी की समझाइश पर युवक अपनी पत्नी को साथ रखने तैयार हो गया साथ ही कसम भी खाई कि अब वह नशा नहीं करेगा ।

इसके अलावा एक ग्रामीण ने बताया कि गांव का एक युवक उससे उधार लिए दस हजार रुपये वापस नहीं कर रहा है । पुलिस के हस्तक्षेप पर ग्रामीण को उसके पैसे वापस मिल गए ।

एसपी ने ग्रामीणों को बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर सुपोषण अभियान चलाया जा रहा है । आप सभी अपने बच्चों का समय समय पर स्वास्थ्य परीक्षण जरूर कराएं साथ ही पौष्टिक भोजन दें जिससे वे स्वस्थ्य रहें । उन्होंने कहा कि गांव की सबसे बड़ी खूबसूरती होती है कि यहां सभी लोग मिलजुल कर रहते हैं ।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -