Saturday, July 20, 2024

मैरिटल रेप पर स्मृति ईरानी ने पुरुषों का बचाव किया:संसद में बहस के दौरान केंद्रीय मंत्री बोलीं- हर पुरुष को रेपिस्ट कहना सही नहीं

Smriti Irani defends men on marital rape

- Advertisement -

cgtimesnews.com/ बुधवार को संसद में विपक्ष की और से मैरिटल रेप का मुद्दा उठाया गया। जिस पर महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने सरकार के पक्ष में बयान देते हुए कहा कि बच्चों और महिलाओं को प्राथमिकता देना ठीक है, लेकिन सभी शादीशुदा पुरुष को रेपिस्ट बताया जाना गलत है।

हर पुरुष को बलात्कारी मानना सही नहीं
संसद में पेश बजट पर हुई चर्चा के दौरान CPI के बिनॉय विश्वम ने ‘वैवाहिक जीवन में यौन हिंसा’ का सवाल उठाया। इस पर स्मृति ईरानी ने जवाब देते हुए कहा कि वैवाहिक हिंसा का समर्थन नहीं किया जा सकता, लेकिन इसकी आड़ में सम्मानित सदन में देश के हर विवाह को हिंसक मानकर उसकी निंदा करना और देश के सभी पुरुषों को बलात्कारी मानना उचित नहीं है।

ये भी पढ़े अमेरिकी स्ट्राइक में मारे गए मासूम:सीरिया में US आर्मी के अटैक में 13 नागरिक मारे जाने का दावा, टारगेट पर था अल कायदा आतंकी

 

ईरानी ने कहा कि हमारे देश में बच्चों और महिलाओं को प्राथमिकता दी जाती है, लेकिन हम सभी पुरुषों को गलत नहीं कह सकते। उन्होंने कहा क्या कभी केंद्र ने घरेलू हिंसा की धारा 3 और IPC की धारा 375 पर बलात्कार पर ध्यान दिया था।

ये भी पढ़े पुलिस सहायता केन्द्र मानिकपुर,थाना- कोतवाली, जिला कोरबा मानिकपुर पुलिस की लगातार कार्यवाही जारी आरोपी को 34 पाव (6.120 लीटर) देशी मदिरा परिवहन करते हुए किया गया गिरफ्तार आरोपी को भेजा गया न्यायिक रिमाण्ड पर

क्या है घरेलू हिंसा की धारा 3
किसी भी महिला को दहेज के लिए प्रताड़ित करना, जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाना, महिला के साथ मार-पीट करना, यह सभी अपराध घरेलू हिंसा की धारा 3 के तहत आते हैं। महिला के साथ यह सभी अपराध करने पर जुर्माने के साथ आजीवन कारावास तक की सजा हो सकती है।

क्या है IPC धारा 375
जब कोई पुरुष किसी महिला के साथ उसकी इच्छा के विरुद्ध, उसकी सहमति के बिना, उसे डरा धमका कर, दिमागी रूप से कमजोर, पागल या नशा की हुई महिला को धोखा देकर शारीरिक संबंध बनाता है तो इसे बलात्कार कहा जाता है। इसमें दोषी पर धारा 375 के तहत कार्रवाई होती है। इसमें कम से कम सात साल और अधिकतम आजीवन कारावास हो सकता है।

30 से ज्यादा हेल्पलाइन कर रहीं महिलाओं की मदद
स्मृति ईरानी ने कहा कि महिलाओं की मदद के लिए 30 से ज्यादा हेल्पलाइन काम कर रही हैं। अब तक इन हेल्पलाइन्स से 66 लाख से ज्यादा महिलाओं की मदद की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि देश में 703 ‘वन स्टॉप सेंटर’ भी महिलाओं को मदद देने का काम कर रहे हैं। इनके जरिए भी 5 लाख महिलाओं को मदद दी गई है। सुप्रीम कोर्ट में मैरिटल रेप का मुद्दा विचाराधीन है, इसलिए इस पर ज्यादा बातचीत नहीं की जा सकती है।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -