Monday, July 15, 2024

शांतिश्री धूलिपुडी पंडित बनीं जेएनयू की पहली महिला कुलपति, जानें इनके बारे में

- Advertisement -

दिल्ली की जवाहरलाल यूनिवर्सिटी (JNU) को पहली महिला कुलपति मिल गई है। प्रोफेसर शांतिश्री धूलिपुडी पंडित (Shantisree Dhulipudi Pandit) को देश के शीर्ष विश्वविद्यालयों में से एक जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय का नया कुलपति नियुक्त किया गया है। साल 2016 से ही वह किसी न किसी वजह से विवादों के साथ सुर्खियों में थीं। जेएनयू के कार्यवाहक कुलपति एम जगदीश कुमार की जगह उनकी नियुक्ती हुई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रोफेसर शांतिश्री धूलिपुडी इस समय महाराष्ट्र में सावित्रीबाई फुले यूनिवर्सिटी की वाइस चांसलर हैं और उन्होंने जेएनयू से पढ़ाई की है। प्रोफेसर शांतिश्री धूलिपुडी पंडित को जेएनयू का कुलपति नियुक्त किया गया है। वह जेएनयू की पहली महिला कुलपति हैं। उनकी नियुक्ति को लेकर एम जगदीश कुमार ने कहा कि मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि राजनीति और लोक प्रशासन विभाग सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय की प्रोफेसर शांतिश्री धूलिपुडी पंडित को अगले कुलपति के रूप में नियुक्त किया गया है।

read more स्कूल जा रही छात्रा को बस ने मार दी टक्कर:लड़की की हालत गंभीर, गुस्साई भीड़ ने 2 बसों में की तोड़फोड़, चक्काजाम भी किया

सावित्रीबाई फुले यूनिवर्सिटी की वाइस चांसलर और प्रोफेसर शांतिश्री धूलिपुडी पंडित का जन्म 15 जुलाई 1962 को रूस में हुआ था। शांतिश्री धूलिपुडी के माता और पिता दोनों अकादमिक पृष्ठभूमि से थे। सेवानिवृत्त सिविल सेवक पिता धुलीपुड़ी अंजनयुलु भी एक पत्रकार और लेखक थे। वहीं माता मुलामूदी आदिलक्ष्मी रूस में तमिल और तेलुगु की प्रोफेसर थीं। रूस में पैदा होने के बाद भी वह तेलुगु, तमिल, मराठी, हिंदी, संस्कृत, अंग्रेजी, कन्नड़, मलयालम और कोंकणी जैसी भाषाओं की जानकार हैं। कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की और अपने विश्वविद्यालय की पहली रैंक और गोल्ड मेडलिस्ट थीं। प्रोफेसर शांतिश्री धूलिपुड ने 1985 में पोस्ट ग्रेजुएशन एमए किया।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -