Monday, July 15, 2024

स्वामी आत्मानंद स्कूलों के पद भरने में अब नहीं होगी कठिनाई बस्तर, सरगुजा संभाग और कोरबा, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिलों में रिक्त पदों की भर्ती के लिए लिया गया महत्वपूर्ण निर्णय स्थानीय उम्मीद्वार नहीं मिलने की स्थिति में दूसरे जिलों के अभ्यर्थियों को मिलेगा मौका

- Advertisement -

रायपुर, 22 फरवरी 2022/स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में पद भरने में अब कोई कठिनाई नहीं आएगी। राज्य शासन द्वारा अनुसूचित क्षेत्रों में स्थानीय पात्र उम्मीद्वार नहीं मिलने पर दूसरे जिलों को उम्मीद्वारों को मौका देने का निर्णय लिया गया है। राज्य शासन द्वारा लिए गए निर्णय के अनुसार बस्तर, सरगुजा संभाग और कोरबा, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिलों में स्थानीय उम्मीद्वारों को भर्ती प्रक्रिया में तीन बार मौका दिया जाएगा।

इसके बाद भी स्थानीय उम्मीद्वार नहीं मिलने की स्थिति में अन्य जिलों के उम्मीद्वारों को चयन प्रक्रिया में शामिल होने का अवसर दिया जाएगा। सामान्य प्रशासन विभाग से जारी अधिसूचना के अनुसार स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में सहायक शिक्षक के पद पर भर्ती के लिए बस्तर, सरगुजा संभाग और कोरबा, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिलों में तीन बार स्थानीय निवासियों की भर्ती प्रक्रिया होने के पश्चात भी यदि भर्ती प्रक्रिया पूर्ण नहीं हो रही है, तो स्थानीय निवासी होने संबंधी शर्त से छूट प्रदान की जाएगी। इससे इन जिलों के शासकीय अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में समय सीमा में पद भरने की कार्यवाही पूर्ण हो सकेगी।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में मंत्री परिषद की बैठक में स्वामी आत्मानंद स्कूलों में सहायक शिक्षक पद पर भर्ती के लिए इस संबंध में स्थानीय निवासी होने के शर्त से छूट प्रदान करने का निर्णय लिया गया था।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -