Monday, July 15, 2024

हिजाब विवाद में मलाला की एंट्री:कहा- हिजाब पहनने पर लड़कियों को स्कूल जाने से रोकना भयावह; मुस्लिम महिलाओं को हाशिए पर जाने से रोकें

- Advertisement -

कर्नाटक के उडुपी से शुरू हुए हिजाब विवाद में पाकिस्तानी सोशल एक्टिविस्ट और नोबल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई की भी एंट्री हो गई है। मलाला ने सोशल मीडिया के जरिए इस विवाद को भयावह बताया और भारतीय नेताओं से अपील की है कि वो भारतीय मुस्लिम महिलाओं को हाशिए पर जाने से रोकें।

read more जांजगीर में 2 दोस्तों सहित 3 की मौत:ट्रैक्टर की टक्कर से युवक की मौत, गुस्साए लोगों ने लगाई आग; ट्रक ने 2 दोस्तों को कुचला

मलाला ने अपनी पोस्ट में लिखा- हिजाब पहनकर लड़कियों को कॉलेज जाने से रोकना भयावह है। महिलाओं के कम या ज्यादा कपड़े पहनने पर आपत्ति जताई जा रही है। भारतीय नेताओं को मुस्लिम महिलाओं को हाशिए पर जाने से रोकना चाहिए।

read more दफ्तर समय पर नहीं आने पर ‘सरकारी सोटा’:​​​​​​​कवर्धा में RTO सहित 3 अफसरों, जांजगीर में 68 कर्मचारियों को नोटिस; ADM ने 10.15 बजे किया निरीक्षण

जनवरी में शुरू हुआ था हिजाब को लेकर विवाद
कर्नाटक में हिजाब विवाद जनवरी को शुरू हुआ था। उडुपी के सरकारी पीयू कॉलेज में 6 मुस्लिम छात्राओं को हिजाब पहनकर क्लास में बैठने से रोक दिया गया था। कॉलेज मैनेजमेंट ने नई यूनिफॉर्म पॉलिसी को इसकी वजह बताया था। इसके बाद कुछ लड़कियों ने कर्नाटक हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की थी। लड़कियों का तर्क है कि हिजाब पहनने की इजाजत न देना संविधान के अनुच्छेद 14 और 25 के तहत उनके मौलिक अधिकार का हनन है।

कर्नाटक हिजाब में मंगलवार को एक नया एंगल तब जुड़ गया, जब केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने हिजाब विवाद के पीछे गजवा-ए-हिंद का हाथ होने की बात कही। उन्होंने इसे सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की साजिश करार दिया। बवाल थामने के लिए कर्नाटक सरकार को अगले तीन दिन के लिए स्कूल-कॉलेज बंद करने का निर्देश देना पड़ा।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -