Monday, July 15, 2024

Basant Panchami 2022: जानें बसंत पंचमी के दिन पीले रंग का क्या है महत्व

Basant Panchami 2022: Know what is the significance of yellow color on the day of Basant Panchami

- Advertisement -

Basant Panchami 2022: माघ मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी को बसंत पंचमी का त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है. इस वर्ष बसंत पंचमी 5 फरवरी को मनाई जाएगी. इस दिन मां सरस्वती की आराधना कर उन्हें पीले फूल, फल, चावल आदि चढ़ाकर उन्हें प्रसन्न किया जाता है. वहीं कुछ लोग व्रत रखकर मां सरस्वती का पूजन करते हैं. बसंत पंचमी पर पीले रंग पर ज्यादा महत्व दिया जाता है. पीले रंग के फूल, पीले रंग के चावल, पीले रंग के फल यहां तक की पीले रंग के कपड़े तक लोग उस दिन इस्तेमाल करते हैं. ऐसे में यह जानना जरूरी है कि आखिर किसी और रंग को बसंत पंचमी  के दिन इतना महत्व क्यों नहीं दिया जाता और क्यों पहने जाते हैं पीले वस्त्र. जानते हैं आगे

read more कोरोना संक्रमित व्यक्ति के नाक से निकली पानी की एक बूंद भी है खतरनाक, स्टडी के बाद हुआ खुलासा …

शांति का प्रतीक है पीला रंग
शास्त्रों के अनुसार, पीले रंग को सुख शांति का प्रतीक मानते हैं. यह सुख शांति देने वाला है. साथ ही पीले रंग को तनाव को दूर करने वाला रंग भी माना जाता है. इसके अलावा मां सरस्वती को भी पीला रंग बहुत पसंद है. यही कारण ही कि इस दिन पीले वस्त्र पहने जाते हैं. जैसे जैसे बसंत ऋतु आती है वैसे वैसे मौसम से ठंडक भी कम होनी शुरू हो जाती है. आसमान से घटाएं छट जाती हैं. पेड़ पौधों पर पत्ते, फूल और कलियां खिलने लगती हैं. सरसों की फसल पककर तैयार हो जाती है और प्रकृति हरी चादर ओढ़ कर अपना रंग बरसाती है. साइंस भी पीले रंग को तनाव को दूर करने वाला रंग मानती है. साथ ही पीले रंग से व्यक्ति में आत्मविश्वास बढ़ता है.

  1. बसंत पंचमी की आरंभ तिथि – 5 फरवरी 2022, दिन शनिवार प्रातः 3:48 बजे.
  2. बसंत पंचमी की समाप्ति तिथि – 6 फरवरी 2022, दिन रविवार प्रातः 3:46 बजे.
  3. बसंत पंचमी का शुभ मुहूर्त – 5 फरवरी 2022, प्रातः 7:19 मिनट से दोपहर 12:35 मिनट तक.
- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -