Sunday, July 21, 2024

जिले में कुल 19 हजार 756 हेक्टेयर रकबे में हो रही उद्यानिकी की खेती, सब्जी फसलों का 18 हजार 142 हेक्टेयर रकबा और मसाला वर्गीय फसलों का 1 हजार 614 हेक्टेयर रकबा में विस्तार

- Advertisement -

कोरबा कोरबा जिले में कुल 19 हजार 756 हेक्टेयर रकबे में उद्यानिकी की खेती हो रही है। उद्यानिकी विभाग द्वारा दिए जानकारी में सब्जी क्षेत्र का रकबा 18 हजार 142 हेक्टेयर है। तथा मसाला वर्गीय फसलों का विस्तार 01 हजार 614 हेक्टेयर रकबे में है। सब्जी वर्ग में विभिन्न प्रकार के गोभी वर्गीय, सोलेनेसी कुल, कद्दू वर्गीय, पत्तेदार सब्जियों एवं कंद वर्गीय फसलों के रकबे की जानकारी सम्मिलित है। उद्यानिकी विभाग द्वारा मसाला वर्गीय फसलों के रकबे की जानकारी का संधारण अलग से किया जाता है। वर्ष 2020 -21 में जिले में कुल 01 हजार 614 हेक्टेयर में धनिया, मिर्च, लहसुन आदि मसाला फसलों की खेती की गयी थी। इस प्रकार यदि दोनों फसलों को जोड़कर देखा जाए तो जिले में 19 हजार 756 हेक्टेयर में सब्जी एवं मसाला वर्गीय फसलों की खेती की जाती है।

उप संचालक कृषि ने बताया कि कृषि विभाग द्वारा सब्जी एवं मसाला वर्गीय फसलों के रकबा का संधारण एक साथ किया जाता है। जबकि उद्यानिकी विभाग द्वारा सब्जी वर्गीय और मसालों के फसलों के संबंध में अलग जानकारी संधारित की जाती है। उप संचालक कृषि एवं सहायक संचालक उद्यानिकी ने बताया कि कृषि एवं उद्यानिकी विभाग द्वारा लगातार सतत प्रयास से किसानों को स्वयं की बाड़ियों- खेतों में एवं स्व सहायता समूह को सामुदायिक बाड़ियों में सब्जी की खेती के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। जिससे लगातार सब्जी क्षेत्र की रकबे में वृद्धि हो रही है। चूंकि खेती का व्यवसाय मौसम आधारित होता है । किसानों द्वारा स्वयं के उपयोग या स्थानीय एवं अन्य जिले में विक्रय किए जाने के उद्देश्य से खेती की जाती है। इसलिए आवश्यकता अनुरूप एवं मौसम अनुसार सब्जी के रकबा घटने या बढ़ने के कारण आंकड़ों में अंतर होता है । यह परिवर्तन स्थाई नहीं होता है।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -