Monday, July 15, 2024

काल बनकर लौटा कोरोना: CORONA का नया वेरिएंट मचाएगा तबाही ! भारत में इतने लोगों की निगल ली जिंदगी, अलर्ट जारी…

- Advertisement -

दिल्ली. एक बार फिर कोरोना लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गया है. कोरोना के नए वेरिएंट जे एन-1 ने भारत में दस्तक दे दी है. जिसे काफी खतरनाक माना जा रहा है. ये अब तक भारत में 5 लोगों की जान ले चुका है. इस वेरिएंट के खतरे को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय ने अलर्ट जारी किया है. जानकरी के अनुसार, ये नया वेरिएंट पूरी दुनिया में तेजी से पांव पसार रहा है.

हेल्थ मिनिस्ट्री ने कोरोना के नए वेरिएंट जे एन-1 की भारत में प्रवेश की पुष्टि की है. इसे देखते हुए सभी राज्यों को फुल अलर्ट पर रहना होगा. नए साल पर होने वाले कार्यक्रमों में भीड़ कंट्रोल करने के लिए उचित कदम उठाने होंगे. अपने यहां कोरोना के मामलों की आरटी पीसीआर तकनीक से टेस्टिंग बढ़ानी होगी. सभी तरह के बुखार की नियमित मॉनिटरिंग करनी होगी. अगर किसी मरीज का कोविड टेस्ट पॉजिटिव आता है तो उसके सैंपल की जिनोम सीक्वेंसिंग के लिए

दिल्ली. एक बार फिर कोरोना लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गया है. कोरोना के नए वेरिएंट जे एन-1 ने भारत में दस्तक दे दी है. जिसे काफी खतरनाक माना जा रहा है. ये अब तक भारत में 5 लोगों की जान ले चुका है. इस वेरिएंट के खतरे को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय ने अलर्ट जारी किया है. जानकरी के अनुसार, ये नया वेरिएंट पूरी दुनिया में तेजी से पांव पसार रहा है.

हेल्थ मिनिस्ट्री ने कोरोना के नए वेरिएंट जे एन-1 की भारत में प्रवेश की पुष्टि की है. इसे देखते हुए सभी राज्यों को फुल अलर्ट पर रहना होगा. नए साल पर होने वाले कार्यक्रमों में भीड़ कंट्रोल करने के लिए उचित कदम उठाने होंगे. अपने यहां कोरोना के मामलों की आरटी पीसीआर तकनीक से टेस्टिंग बढ़ानी होगी. सभी तरह के बुखार की नियमित मॉनिटरिंग करनी होगी. अगर किसी मरीज का कोविड टेस्ट पॉजिटिव आता है तो उसके सैंपल की जिनोम सीक्वेंसिंग के लिए INSACOG LAB में भेजा जाए.

NSACOG LAB में भेजा जाए.

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -