Thursday, July 25, 2024

वतन लाए गए कुवैत के अग्निकांड में मारे गए 45 भारतीयों के शव, एक जख्मी की भी मौत

- Advertisement -

नई दिल्ली : कुवैत के अग्निकांड में मारे गए 45 भारतीयों के शव वायुसेना के विमान से भारत ले आए गए हैं। वहीं कुवैत के विदेश मंत्रालय ने बातया कि अस्पताल में एक घायल का इलाज चल रहा था जिसकी मौत हो गई। इसके साथ ही मरने वालों का कुल आंकड़ा 50 हो गया है। शुक्रवार की सुबह ही भारतीय वायुसेना का सी-130 जे हर्क्यूलिस विमान कुवैत से रवाना हो गया था। विमान सीधे कोच्चि पहुंचा है। इसके बाद यह विमान दिल्ली के लिए उड़ान भरेगा।

कुवैत के अग्निकांड में मरने वाले 33 लोग केरल से ही हैं। बता दें कि कुवैत के अग्निकांड में घायल हुए भारतीयों की मदद और मारे गए लोगों के शव वापस लाने के लिए विदेश राज्य मंत्री कीर्ति वर्धन सिंह कुवैत गए थे। वहीं कुवैत के विदेश मंत्री अब्दुल्लाह अली अल याह्या ने जानकारी दी कि गुरुवार की रात में ही एक भारतीय ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। ऐसे में मरने वाले भारतीयों की संख्या 46 हो गई है। बता दें कि कुवैत के मंगाफ शहर में एक इमारत में आग लग गई थी। इस इमारत में करीब 160 लोग रहते थे जिनमें से ज्यादातर लोग प्रवासी कामगारों की थी।

कुवैत के अग्निकांड में मरने वालों में तीन फिलीपीन्स के नागरिक हैं। वहीं एक शव की पहचान नहीं हो पाई। बुधवार को तड़के मंगाफ की 6 मंजिली इमारत में आग लग गई थी। इसमें 50 लोगों की मौत हो गई है और 33 का इलाज चल रहा था। मरने वाले भारतीय 12 राज्यों के रहने वाले ते। इनमें केरल के सबसे ज्यादा 23 लोग थे। इसके अलावा तमिलनाडु से सात, आंध्र प्रदेश के तीन, उत्तर प्रदेश के तीन, ओडिशा के दो, बिहार, हरियाणा, झारखंड, महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल का एक-एक व्यक्ति शामिल था।

कुवैत के अमीर मेशल अल अहमद अलग जबेर अल सबाह ने मरने वालों के परिवारों को मदद देने का ऐलान किया है। वहीं कुवैत के उप प्रधानमंत्री शेख फहद युसुफ सऊद अल सबाह ने ऐलान किया है कि फायर सेफ्टी का उल्लंघन करने वालों की शिकायत करने के लिए एक हॉलाइन की शुरुआत की जाएगी। शिकायत के बाद तुरंत कार्रवाई की जाएगी। वहीं सभी इमारतों में जांच की जाएगी कि फायर सेफ्टी का इंतजाम किया गया है या नहीं।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -