Tuesday, July 23, 2024

मंदिर-मस्जिद और 1800 मकान सब टूटे, कुकरैल नदी की जमीन पर बने अवैध निर्माणों पर चला बाबा का बुलडोजर

- Advertisement -

यूपी की राजधानी लखनऊ के अकबरनगर में बने अवैध निर्माणों पर आज भी प्रशासन का पीला पंजा चला। इस ध्वस्तीकरण में पिछले 9 दिनों में करीबन 1800 अवैध मकान, दुकानें व कॉम्पलेक्स आदि सभी को तोड़ दिया गया है। इतना ही नहीं यहां बने कुछ मंदिर और मस्जिद को भी ध्वस्त कर दिया गया है, जिन्हें पहले छोड़ दिया गया था। अब इलाके में सिर्फ मलबा ही मलबा दिख रहा है।

अवैध निर्माणों को हटे

दरअसल, एलडीए यानी लखनऊ डेवलपमेंट अथॉरिटी कुकरैल नदी की जमीन पर अवैध निर्माणों को हटा रही है। इसे हटाने के बाद यहां इको टूरिज्म बनाया जाएगा। इसके अलावा यहीं पर लखनऊ का चिड़ियाघर भी शिफ्ट करने की प्लान है। बता दें कि अकबरनगर में ध्वस्तीकरण अभियान का कार्य पूरा हो गया है, अब मलबा हटाने का काम शुरू किया गया है। पिछले 9 दिनों से चल रहे इस ध्वस्तीकरण में अब तक अवैध बने 1169 आवास और 101 कॉमर्शियल निर्माण तोड़े गए हैं या कहें कि इस अभियान में करीब 24.5 एकड़ जमीन पर बने 1800 से अधिक अवैध निर्माण जमींदोज किया गया है।

सुप्रीम कोर्ट तक लड़ी लड़ाई

दिसंबर 2023 से अतिक्रमण हटाने का अभियान शुरू हुआ था। शासन के निर्देश पर सर्वे के दौरान नदी की जमीन पर बड़ी संख्या में अवैध निर्माण की बात सामने आई थी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुकरैल नदी के पुनर्जीवन के लिए हाईकोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक लड़ी लड़ाई है। बता दें कि सुनवाई में कोर्ट ने भी माना योगी सरकार की कार्रवाई सही है। अब  योगी सरकार इस क्षेत्र को इको टूरिज्म का हब बनाएगी, साथ ही लखनऊ के चिड़ियाघर को भी इसी जगह शिफ्ट करने का प्लान है।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -